Technology Hindi Solution: Programming

आपको यहॉ Computer Tricks In Hindi, Computer Learning Blog In Hindi, Seo Tips In Hindi, Internet, Phone, Facebook, Android, Computer Tips And Tricks In Hindi, Best How To Article In Hindi, Ms Word, Ms Excel, Technology News In Hindi, Learn Hindi Typing, Google Seo Tips In Hindi,hacking trick,computers hacking ,mobile hacking ,hacking tools use ,Technology ,nono Technology , Facebook Tricks In Hindi ,tech news in hindi जो आपके कम्प्यूटर ज्ञान को बढाने में सहायक हो सकते हैं

New Post

Showing posts with label Programming. Show all posts
Showing posts with label Programming. Show all posts

Saturday, October 13, 2018

सबसे अधिक कमाई वाले प्रोग्रामिंग लैंग्वेज की जानकारी in hindi - Technology solution

October 13, 2018 0

सबसे  कमाई वाले प्रोग्रामिंग लैंग्वेज की जानकारी


नमश्कार दोस्तों ! आज के इस पोस्ट में मैं आपको बताऊंगा सबसे अधिक कमाई वाले प्रोग्रामिंग लैंग्वेज(Highest Earning Programming Language In Hindi) के बारे में जिसको सिख कर आप अच्छी कमाई वाली job पा सकते हैं.

1. Java

दोस्तों जैसा की मैंने पहले भी बता चूका हूँ  कुछ ऐसे प्रोग्रामिंग लैंग्वेज के बारे में जिन्हें आप आसानी से सिख सकते हैं  आज के समय में java प्रोग्रामिंग लैंग्वेज का क्रेज   इतना बढ़ गया है की हर कोई इसे सीखना चाहता है क्योंकि यह एक object oriented प्रोग्रामिंग लैंग्वेज है और  इसका एक feature यह भी है की अगर आप कोई भी java की प्रोग्राम लिखते हैं तो आप उस प्रोग्राम को किसी भी ऑपरेटिंग सिस्टम में चला सकते हैं javaओग्रम्मिंग लैंग्वेज इतना मशहूर इसलिए हुआ क्योंकि यह एक सिंपल लैंग्वेजइ और लोगों को आसानी से समझ आ जाता है , जिन लोगों ने java सिख रखा है उन लोगों की demand बहुत ज्यादा है यहाँ तक की सीनियर लेवल के developers को $115,000 जितना  भारी भरकम रकम दिया जाता है. java के ऑफिसियल साईट पर जाने के लिए यहाँ क्लीक करें.

2. Python

यह एक general purpose प्रोग्रामिंग लैंग्वेज है जो कि सिंपल है और आसानी से इसे पढ़ा जा सकता है इसका इस्तेमाल ज्यादातर tech  industry में होता है जैसे  Google और  NASA यह लैंग्वेज beginners के लिए काफी अच्छा है  अगर   वे प्रोग्रामिंग सीखना  चाहते है क्योंकि इसकी demand भी काफी ज्यादा है , सीनियर लेवल Python developers को $100,000+  सैलरी दिया जाता है. python के ऑफिसियल साईट पर जाने के लिए यहाँ क्लीक करें.

ज़रूर पढ़िए:

3. R

इस प्रोग्रामिंग लैंग्वेज को GNU S भी कहा जाता है इसका इस्तेमाल ज्यादातर statisticians करते है ताकि वे  data analysis and statistical सॉफ्टवेयर बना सकें इस प्रोग्रामिंग लैंग्वेज की सबसे अच्छी खासियत यह है की इसकी unmatched graphics और charting capabilities बहुत ही कमाल की है जो  सॉफ्टवेयर developing को और भी आसान बनाती है , सीनियर लेवल R developers को $100,000  सैलरी दिया जाता है. R के ऑफिसियल साईट पर जाने के लिए यहाँ क्लीक करें.

4. Objective-C

इस प्रोग्रामिंग लैंग्वेज के predecessor C संस्करण के भारी अपडेट करने के बाद Objective-C Apple कंपनी     की मुख्य बन चूका है ताकि वे अपना OS X और  iOS platforms develop कर सकें , यह Apple कंपनी केAPIs, Cocoa और  Cocoa Touch को भी इसी लैंग्वेज की मदद से develop किया जाता है , Apple कंपनी में सीनियर लेवल Objective-C developers को $100,000  सैलरी दिया जाता है. Objective-C के ऑफिसियल साईट पर जाने के लिए यहाँ क्लीक करें.

5. C#

यह एक नया लैंग्वेज है जो कि C परिवार का हिस्सा है और यह C और  C++ के बाद इसे  Microsoft कंपनी ने तैयार किया यह लैंग्वेज बहुत ही ज्यादा सिंपल है और यह  wide range of enterprise applications तैयार करने  के लिए इस्तेमाल किया जाता हैं यह लैंग्वेज  Microsoft. NET Framework पर काम करता है ,  सीनियर लेवल C# developers को $90,000+ सैलरी दिया जाता है. C# के ऑफिसियल साईट पर जाने के लिए यहाँ क्लीक करें.

6. SQL

इस लैंग्वेज को Structured Query Language भी कहा जाता है इस लैंग्वेज का इस्तेमाल relational database management system बनाने और मैनेज करने के लिए किया जाता है और साथ ही साथ इसका इस्तेमाल relational data stream management system में stream processing के लिए भी किया जाता है आज के समय में में इसकी     डिमांड बहुत ही ज्यादा बढ़ गयी है क्योंकि लगभग जितने भी websites बनते हैं सभी में  relational database management system का इस्तेमाल हो रहा हैं ,सीनियर लेवल SQL developers को $80,000 सैलरी दिया जाता है. SQL के साईट पर जाने के लिए यहाँ क्लीक करें.
ज़रूर पढ़िए:
  1.  WordPress क्या है? -Technology Hindi solution
  2.   WordPress.com और WordPress.org में क्या है - Technology Hindi solution
  3.  WordPress के लिए Privacy Policy Page कैसे बनाएं - TechnologyHindi solution
  4.  WordPress Blog पर AMP keise  Set kare in hindi -Technology Hindi solution
  5.  WordPress के लिए Right Web Hosting Choose कर ? Technology Hindi solution
  6.   CDN Setup कर Blog की Speed बढ़ाये -Technology Hindi solution

दोस्तों अगर आपको ये पोस्ट helpful लगी तो जरुर Facebook पर इससे शेयर करे, और राष्ट्र भाषा Hindi को Support करे . धन्यवाद!
Read More

Thursday, September 13, 2018

What is PowerShell in Hindi - Technology Hindi Solution

September 13, 2018 1

i am parthik thakur 

welcome to technogloy  website


                           विंडोज पॉवरशेल

PowerShell को समझने से पहले आपको Shell के बारे मे पता होना जरुरी है | Computing मे shell एक super interface है जिसकी help से OS की services access की जा सकती है | Generally operating system, shells services access करने के लिए या तो command-line interface (CLI) या फिर GUI use करती है | 

इसको shell इसलिए कहा जाता है क्योकि ये computer operating system kernel के ऊपर की layer होती है | Windows PowerShell Microsoft के द्वारा develop की गयी वो shell है जिसकी help से task automation and configuration management किया जा सके | PowerShell मे, command line shell and scripting language दोनों बहुत important है एवं दोनों की अपनी उपयोगिता है |
                               

वैसे तो Windows का Graphical user interfaces बहुत easy and understanding होता है लेकिन Users task को complete करने के लिए पूरी तरह से इस बात पर depend करता है की उसको task perform करने की steps पता है या नहीं | Operating systems users को graphical representation provide करता है जहाँ पर वह drop-down menu या फिर context menu को use करके items browse या फिर context -specific functionality perform किये जा सकते है | 

GUI की तुलना मे command-line interface (CLI) जैसे की Windows PowerShell, information को browse करने के लिए या task perform करने के लिए दूसरी approach use करती है क्योकि इसमें कोई GUI नहीं होता है, आपको task perform करने के लिए पूरी तरह से command names और उनके syntax पर depend on होना पड़ता है लेकिन Powershell की सबसे अच्छी खास बात है की ये interactive होती है और आप एक छोटा सा command type करके बहुत सारी information retrieve करने के साथ complex task एक single command मे perform कर सकते है |
Windows PowerShell एक task-based command line, automation platform and scripting language features वाली interactive object-oriented command environment language है जो की छोटे programs को बड़े बड़े task perform करने के लिए use की जा सकती है एवं system administrator के task, easy करने के लिए design की गयी है | इसकी help से windows server system task management easy ho जाता है | Microsoft Windows PowerShell, एक object-oriented programming language and interactive command line शैल है जो की Dot Net framework मे बना है इसलिए ही यह windows environment को control करने के लिए rich objects and बहुत अच्छे built-in functionality provide करता है | IT professionals and power users के लिए Windows PowerShell एक ऐसा tool है जो की windows OS and windows applications के administration को control and automate करने मे help करता है |
PowerShell को system task automate करने के लिए design किया गया था जैसे की batch processing task, common task के लिए systems management tools create करना etc | PowerShell language Perl language से मिलती हुई language है | PowerShell मे अलग अलग functions के लिए 120 से ज्यादा standard command line tools होते है जिनको create करने के लिए users पहले VB, VBScript or C# use करके script बनाते थे | 
यहाँ पर एक बात ध्यान मे रखने की है की Windows PowerShell एक .NET Framework application है | यह कोई super tool नहीं जिसके user कोई भी operation perform कर सकता है | इसमें एक user PowerShell का use करते हुए केवल वो ही operation perform कर सकता है जिसके rights उसके पास हो जिससे की अगर user के पास device drivers install करने के rights नहीं है तो वो user ऐसे कोई script नहीं run कर सकता जिससे की device drivers install किया जा सके |
Powershell के commands बहुत simple, understanding and logical होते है जैसे की एक command Get-Process है | इसका मतलब मुझे information चाहिए (get) | इसलिए command start होता है get से उसके बाद मुझे process की information चाहिए इसलिए second part मे process – get-process | इस प्रकार एक बार आप commands का use करने लग जाते है तो आपके लिए commands को समझना और याद करना easy ho जाता है |
PowerShell के अलग अलग features मे से Cmdlets सबसे जयदा use आने वाला या फिर कह सकते है की यह PS का heart and soul होता है जिस पर आप commands execute कर सकते है |

Windows PowerShell features –
Cmdlets – ये specialized commands होते है जिसकी help से common system administration tasks perform किये जा सकते है -registry managing task, services, processes, event logs etc.
PowerShell Scripts – यह task-based scripting language होती है जो की existing scripts and command-line tools को support करती है | Script language variables, functions, branching (if-then-else), loops (while, do, for, and reach), structured error/exception handling को support करती है | PowerShell मे लिखी गयी script .ps1 file या psm1 file मे save की जाती है |
Consistent design- cmdlets and system data stores common syntax and naming conventions को use करते है इसलिए data को easily share किया जा सकता है | एक cmdlet का output दूसरे cmdlet मे बिना किसी manipulation or formatting के as input use किया जा सकता है |
Powerful object manipulation capabilities – Objects can be directly manipulated or sent to other tools or databases.
PowerShell Versions: Windows PowerShell का first version PowerShell 1.o Nov 2006 मे Windows के Operating systems के साथ release किया था एवं उसके बाद PowerShell 2.0, 3.0, 4.0 and latest version PowerShell 5.o release किये जा चुके है |
Windows XP, Windows Server 2003 and Windows Vista के लिए PowerShell का free version download किया जा सकता है | Windows 7 and Windows server 2008 के लिए PowerShell as built-in feature है जिसको की optionally install किया जा सकता है |
PowerShell मे generally administrative tasks cmdlets पर perform किये जाते है –
Few Popular Cmdlet commands –
Get-ChildItem – List all files/directories in the (current) directory
Test-Connection – Sends ICMP echo requests to specified machine from the current machine, or instructs another machine to do so
Get-Content – Get the content of a file
Get-date
Get-Item – Item specified by the parameter ou give
Get-Command – Get the content of a file
Get-Help – List available commands
Clear-Host – Clear the screen
Copy-Item – Copy one or several files / a whole directory tree
Move-Item – Move a file / a directory to a new location
Remove-Item – Delete a file / a directory
Rename-Item – Rename a file / a directory
Get-Location – Display the current directory/present working directory.
Pop-Location – Change the current directory to the directory most recently pushed onto the stack
Set-Location Change the current directory
Tee-Object – Pipe input to a file or variable, then pass the input along the pipeline
Write-Output – Print strings, variables etc. to standard output
Get-Process – List all currently running processes
Stop-Process – Stop a running process
Set-Variable – Set the value of a variable / create a variable


Thanks for reading. I hope you liked it. Please share in social media and give feedback in comments

technology solution को Follow करे  –

whatsapp no.7067889604
Read More

Sunday, July 15, 2018

MAKE AN ASSISTANT FOR YOUR COMPUTER IN 5 MINUTES - Technology Hindi Solution

July 15, 2018 0
Heard of the new iPhone 4S with Siri? In under an hour I made one for windows in VBS. Now I can open youtube just by saying "youtube OK"
or search google by saying "google OK" Get prepared for making your own new form of using your computer.

You will need

-Windows Vista and up Machine (if you want voice activation. if not windows 98 or higher)
-5 minutes
-Microphone (If you want voice activation)

Step 1: Setup Speech Recognition

Picture of Setup Speech Recognition
If you want to use speech recognition with this follow these instructions. If not, skip to step two.
Go to

Control Panel>Ease Of Access>Speech Recognition>Train your computer to better understand you

Follow the directions that it gives you and read the text aloud.

Step 2: Open Notepad

Picture of Open Notepad
Press Winkey + R

Type in "notepad"

Hit enter

Step 3: Copy This Script Into Notepad (voice Activation)

Picture of Copy This Script Into Notepad (voice Activation)
Set Sapi = Wscript.CreateObject("SAPI.SpVoice")
set wshshell = wscript.CreateObject("wscript.shell")

dim Input
wshshell.run "%windir%\Speech\Common\sapisvr.exe -SpeechUX"
Sapi.speak "Please speak, or type, what you want to open?"
Input=inputbox ("Please speak, or type, what you want to open.")
if Input = "youtube" OR Input = "Youtube"then
Sapi.speak "Opening youtube"
wshshell.run "www.youtube.com"

else
if Input = "instructables" OR Input = "Instructables" then
Sapi.speak "Opening instructables"
wshshell.run "www.instructables.com"

else
if Input = "google" OR Input = "Google" then
Sapi.speak "Opening google"
wshshell.run "www.google.com"

else
if Input = "command prompt" OR Input = "Command prompt" then
Sapi.speak "Opening command prompt"
wshshell.run "cmd"

else
if Input = "calculator" OR Input = "Calculator" then
Sapi.speak "Opening calculator"
wshshell.run "calc"

else
if Input = "notepad" OR Input = "Notepad" then
Sapi.speak "Opening notepad"
wshshell.run "notepad"

else
if Input = "" then
else

Sapi.speak "I don't recognize your input, Please try something else"
end if
end if
end if
end if
end if
end if
end if

Step 4: Copy This Script Into Notepad (no Voice Activation)

Picture of Copy This Script Into Notepad (no Voice Activation)
Set Sapi = Wscript.CreateObject("SAPI.SpVoice")
set wshshell = wscript.CreateObject("wscript.shell")

dim Input

Sapi.speak "Please type, what you want to open?"
Input=inputbox ("Please type, what you want to open.")

if Input = "youtube" OR Input = "Youtube"then
Sapi.speak "Opening youtube"
wshshell.run "www.youtube.com"

else
if Input = "instructables" OR Input = "Instructables" then
Sapi.speak "Opening instructables"
wshshell.run "www.instructables.com"

else
if Input = "google" OR Input = "Google" then
Sapi.speak "Opening google"
wshshell.run "www.google.com"

else
if Input = "command prompt" OR Input = "Command prompt" then
Sapi.speak "Opening command prompt"
wshshell.run "cmd"

else
if Input = "calculator" OR Input = "Calculator" then
Sapi.speak "Opening calculator"
wshshell.run "calc"

else
if Input = "notepad" OR Input = "Notepad" then
Sapi.speak "Opening notepad"
wshshell.run "notepad"

else
if Input = "" then
else


Sapi.speak "I don't recognize your input, Please try something else"
end if
end if
end if
end if
end if
end if
end if

Step 5: Test the Script

Picture of Test the Script
Now save the script as assistant.vbs

Once the file has been saved run it, and it should tell you its ready for a command.

Say one of the options and then say OK.

It should open that option.

Step 6: Personalization

You can replace a chunk of code in here to open something else fairly easy. Lets start with one of the chunks, lets say, calculator.

else
if Input = "calculator" OR Input = "Calculator" then
Sapi.speak "Opening calculator"
wshshell.run "calc"

Say I want this to open bing.com

You have to change 4 parts.

else
if Input = "HERE" OR Input = "HERE" then
Sapi.speak "HERE"
wshshell.run "HERE"

The first one must be all lowercase. bing
The second one has a capital first letter Bing
The third is sapi speaking so something like Opening Bing
The fourth is the target www.bing.com

So it would look like this

else
if Input = "bing" OR Input = "Bing" then
Sapi.speak "Opening bing"
wshshell.run "www.bing.com"

!! Make sure everything has quotation marks around it or else it will be considered a variable not a text string!!
ज़रूर पढ़िए:
In case you were wondering why there was a capital and lowercase bing, it was so the program would recognize two common ways bing is written (with or without capitalization).

Thanks for reading. I hope you liked it. Please share in social media and give feedback in comments
Read More

Saturday, June 16, 2018

PHP क्या है ? क्यूँ Use होता है ? in hindi By Technology Solution

June 16, 2018 0

i am parthik thakur 

welcome to technogloy  website


हेलो फ्रेंड्स ! आज मैं आपको बताऊंगा PHP के बार में. पीएचपी यानी Personal Homepage Application का अविष्कार Rasmus Lerdorf  ने 1994 में अपने प्रयोग के लिए किया था. वर्तमान में इसे hypertext preprocessor कहा जाता है. PHP का जन्म 1994 में एक pearl program के रूप में हुआ जिसे Rasmus Lerdorf  ने अपने ऑनलाइन resume को analyse करने के लिए लिखा था. यह C language एप्लीकेशन को दोबारा लिखता है और उन्हें फ्री सॉफ्टवेयर कम्यूनिटी प्रोग्राम द्वारा खोलता है. वर्तमान समय में हम PHP-6 का इस्तेमाल करते है.

learn-PHP-hindi
PHP बिल्कुल मुफ्त है इसलिए My SQL Database Host को फ्री में उपलब्ध कराते हैं हालांकि इस में कॉपीराइट भी होता है. PHP एक बहुत ही सरल Scripting Language है, जिसे बडी ही आसानी से व तेज गति से सीखा जा सकता है. यानी PHP की सरलता  ही इसकी सबसे बडी विशेषता भी है.


PHP किसी भी मशीन में चल सकता है जैसे कि यूनिक्स , लिनक्स , Windows. PHP एक Server Side Scripting Language है. यानी ये एक ऐसी Scripting Language है, जो किसी Web Application या Web Page को Server Side में Control करने के लिए उपयोगी है. वर्तमान समय में लगभग 70% से ज्‍यादा Web Sites व Web Applications Apache Web Server पर Run होते हैं और Apache Web Server पर सबसे ज्‍यादा उपयोग में ली जाने वाली Scripting Language PHP ही है.

PHP के बाद सबसे ज्‍यादा उपयोग में लिया जाने वाला Web Server IIS Web Server है, जो कि Microsoft Company ने Design किया है. चूंकि इस Web Server को Microsoft Company ने Design किया है,  इसलिए ये Web Server Microsoft Company की Server Side Scripting Language ASP.Net को बेहतर तरीके से Support करता है, जो कि Internally VB.Net व C#.Net को उपयोग में लेता है.

PHP की मूल विशेषता विभिन्‍न प्रकार की जरूरतों को पूरा करने के लिए इसमें Include की गई विभिन्‍न प्रकार की Core Libraries हैं जिसमें 1000 से ज्‍यादा उपयोगी Functions हैं, जो विभिन्‍न प्रकार की Real Life जरूरतों को आसानी से पूरा करने के लिए Define किए गए हैं. इस Core Library Functions पर जितनी अच्‍छी पकड होती है, PHP पर भी उतनी ही अच्‍छी पकड होती है. यानी आप  PHP के इन Core Functions को जितना अच्‍छी तरह से उपयोग में लेना सीखते हैं, आप उतने ही अच्‍छे PHP Programmer बनते हैं.

PHP एक बहुत ही सरल व General Purpose Scripting Language है जो कि लगभग 70% “C” Language व बाकी का 30% “C++” व “Java” Programming Language की तरह है. इसलिए यदि आप “C”, “C++” व “Java” में से एक या एक से ज्‍यादा Programming Languages जानते हैं, तो आप बडी ही आसानी से PHP को सीख सकते हैं और इसे उपयोग में लेते हुए Dynamic Website या Web Application Create कर सकते हैं.

उदाहरण के लिए PHP में पांचवें Version में PHP को Object Oriented Features से युक्‍त किया गया है जो कि एक बहुत ही उपयोगी Concept है. इस पुस्‍तक में न केवल Core PHP को अच्‍छी तरह से विभिन्‍न उदाहरणों के माध्‍यम से समझाने की कोशिश की गई है, बल्कि साथ ही साथ Object Oriented PHP जैसे Advance Concepts को भी बहुत ही विस्‍तार से समझाया गया है.

वर्तमान समय में Web Applications व Dynamic Web Sites को तेज गति से Develop करने के लिए विभिन्‍न प्रकार Frameworks (जैसे कि WordPress, Joomala, Drupal, Symfony, CakePHP, Zend, MODx, Magento, OSCommerce, OpenCart) आदि Develop किए गए हैं, जहां 80% से ज्‍यादा Frameworks केवल PHP Development पर आधारित हैं.

यानी वर्तमान समय में PHP Web पर Use की जाने वाली Most Popular Scripting Language है. इसलिए यदि आप इन Frameworks को भी अच्‍छी तरह से समझना चाहते हैं, तो आप केवल उसी स्थिति में इन Frameworks को बेहतर तरीके से समझ सकते हैं, जबकि आपको Core PHP का अच्‍छा ज्ञान हो.

तो दोस्तों हमारा ये पोस्ट आपको कैसा लगा comment के माध्यम से जरुर बताएं और social media में शेयर करना न भूलें.
Read More

Github क्या है ? Github के बारे में in hindi By Technology Solution

June 16, 2018 0

i am parthik thakur 

welcome to technogloy  website

दोस्तों अगर आप सॉफ्टवेयर डेवलपमेंट में अच्छी खासी रूचि रखते हैं तो मैं इस पोस्ट के ज़रिये एक ऐसी चीज़ बताने जा रहा हूँ जो आपके बहुत काम आ सकती है दोस्तों मैं बताऊंगा Github के बारे में यह एक web-based

 Git or version control repository and Internet hosting service है  जिसका ज्यादातर इस्तेमाल कोडिंग के लिए होता है,  यह आपको कई प्रकार के ऑफर्स देती है जैसे  distributed version control and  source code management और  इनके साईट से आप अपने काम के लिए कोड भी ले सकते है और चाहे तो इनके कोड में अपने पसंद के फेरबदल भी कर सकते हैं यह आपको और भी बहुत सारे features प्रदान करते हैं, जैसे access control, आप इनके साथ मिलकर काम भी कर सकते हैं जैसे किसी कोड में bug ट्रैक करना, टास्क मैनेजमेंट करना और भी बहुत सारे प्रोजेक्ट्स हैं जिनमे आप इनके साथ मिलकर काम कर सकते हैं.
Github  की शुरुआत February 8, 2008 में Tom Preston-Werner , Chris Wanstrath और PJ Hyett ने मिलकर किया था यह एक प्रकार  की सॉफ्टवेयर industry हैं जहाँ पर कई प्रकार के software’s बनाये जाते हैं इनका एक खास नारा भी है “Build software better, together.”, “Where software is built”. आज के समय में Github के पास लगभग 26 million users है जो इनके साथ मिलकर करते हैं.

Github के एडिशनल Features

जैसा मैंने पहले बताया है की इसका ज्यादातर इस्तेमाल कोड के लिए होता है लेकिन यह और भी कई formats और features सपोर्ट करता है –

  • github की मदद से आप कई प्रकार के README फाइल रेंडर कर सकते है README यह एक प्रकार का डॉक्यूमेंटेशन फाइल होती है जो सॉफ्टवेयर के बारे में डिटेल्स स्टोर  करके रखती है.
  • आप अपने द्वारा लिखे गये कोड को रिव्यु भी करा सकते है और उस कोड पर कमेंट भी पास करा सकते हैं.
  • आप github की मदद से एक छोटा वेबसाइट भी होस्ट करा सकते हैं.
  • आपको इस वेबसाइट पर Integrations Directory भी मिल जाएगी.

Github द्वारा Education program

हाल ही में github ने स्टूडेंट्स के लिए एक नया प्रोग्राम लांच किया है जिसका नाम GitHub Student Developer Pack इसके ज़रिये github  स्टूडेंट्स को बहुत से  popular development tools and services को एक्सेस करने देगी ताकि स्टूडेंट्स इसका फायदा उठा सके और अपनी सॉफ्टवेयर डेवलपमेंट क्षमता को बढ़ा सके, github ने कई सारी कंपनी के साथ पार्टनरशिप भी की है  ताकि स्टूडेंट्स को  पूरी फैसिलिटी दे सकें वो कम्पनीज हैं –BitnamiCrowdflowerDigitalOceanDNSimpleHackHandsNamecheap, Orchestrate, Screenhero, SendGridStripeTravis CI and Unreal Engine .

Github का Organizational structure

December 2012 तक GitHub, Inc. एक प्रकार का flat organization आर्गेनाईजेशन था जिसमे कोई ही मिडिल मेनेजर नहीं था जिसका मतलब यह है की उस कंपनी में हर कोई मेनेजर था  उस  कंपनी में लोग अपने इंटरेस्ट के  हिसाब से project पर काम करते हैं  लेकिन उनकी सैलरी को chief executive ही decide करता है. 2014 में github ने एक मिडिल मेनेजर appoint कर लिया है.

Finance

शुरुआत में GitHub.com एक प्रकार का स्टार्टअप बिज़नस था,  लेकिन चार साल बाद July 2012 में   Andreessen Horowitz ने इस कंपनी में $100M का इन्वेस्टमेंट किया उसके बाद July 2015 में github ने एक और $250M का venture capital इकठ्ठा कर लिया और यह  कारगर साबित हुआ और आज के समय में github का सालाना टर्नओवर $140M का है.

                       दोस्तों उम्मीद है आपको यह पोस्ट अच्छी लगी हो इसे share करना ना भूले.

Read More

Friday, June 15, 2018

NET & JAVA – Future और Career के लिए कौन best hai -Technology Solution

June 15, 2018 0

i am parthik thakur 

welcome to technogloy  website

दोस्तों अक्सर हमें जब भी मौका मिलता है हम कभी न कभी किसी सॉफ्टवेयर डेवलपर से यह पूछ लेते हैं की career & future के नज़रिए से सबसे बेहतर कौन है Java या .Net यह पोस्ट इसी पर बेस्ड है ताकि आपको पता चल सके की फ्यूचर और career के लिए सबसे बेहतर    कौन है ,ताकि कोई confuse ना हो career के लिए. अगर आप इस टॉपिक से रिलेटेड इन्टरनेट पर सर्च करे तो आपको रिजल्ट्स biased मिलेंगे क्योंकि ज्यादातर लोग या तो java के fans होंगे या फिर.net के मगर यह आर्टिकल पूरी तरह दोनों पर बेस्ड रहेगी.

java or dot net hindi

Java Vs. Net : सबसे बेहतर ?

सबसे बड़ा सवाल यह है की क्या दोनों को compare किया जा सकता है ? अगर java की बात करें तो वह एक प्रोग्रामिंग लैंग्वेज है वहीँ अगर.net की बात करें तो वह एक प्रकार का framework है जो बहुत सारे लैंग्वेज सपोर्ट करता है जैसे – C#, VB.Net, Asp इत्यादि  framework एक प्रकार का पूल है जिसमे बहुत से रेडीमेड फंक्शनलिटी मौजूद हैं  जिसका  इस्तेमाल आप अपने कोडिंग के लिए कर सकते  हैं. Generally अगर बोला जाये तो दोनों ही अपने -अपने काम में अच्छे हैं और दोनों की ही world-wide डिमांड है बहुत ही काम्प्लेक्स प्रोजेक्ट्स के लिए.

सिखने के सबसे आसान कौन  ?

Unfortunately इसका कोई clear answer नहीं हैं क्योंकि यह सब आप पे depend करता है  की आप को कौन सी चीज़ आसान लगता है क्योंकि कई लोग होते हैं जिनको java आसान लगता है और वे उसके मास्टर होते ही उसी प्रकार कई लोग ऐसे होते है जिन्हें.net framework पर काम करना आसान लगता हैं लेकिन अगर मेरे से यही सवाल पूछा जाये तो मेरे लिए.net framework पर काम करना आसान रहेगा क्योंकि इसके framework पर कई ऐसे preloaded टूल्स मौजूद है जो इसे थोडा सा आसान बनाते हैं.

Career Opportunities In Java or .Net

यहाँ कुछ बातें interesting हैं. अगर आज के समय में हम देखें तो जहाँ कहीं भी लोगों को hire किया जाता है काम के लिए तो वहां के advertisement पर यह नहीं लिखा रहता हैं की  “Java Programmers Required” or “.Net Programmers Required” आप ज्यादातर ऐसे जॉब देखेंगे जो J2EE, JSF जैसे qualification ज़रूरी है जिसके लिए आपको java और c# दोनों आने चाहिए और.net वालों के लिए SQL server and other MS tech जानना ज़रूरी हैं ,तो गौर करने वाली बात यह है की आपको अपना नॉलेज खुद improve करना होगा और नए चीजों के बारे में जानना होगा चाहे आप कोई भी career path चुनें.अगर पिछले कुछ सालों की बात करें  तो Java developers and.Net developers दोनों की ज्यादा डिमांड रहीं हैं और आने वाले कुछ सालो तक यह शायद ही बदलेगा.

Future के लिए सबसे बेहतर क्या ?

इस टॉपिक पर ज्यादा सोचने वाली बात नहीं है आप खुद को future-proof  बनाइये क्योंकि technology को predict करना आसान नहीं है आज ये दोनों फेमस है शायद आने वाले समय में ना रहे क्योंकि हर मिनट कुछ न कुछ बदल रहा है , अगर आप software engineer / developer बनना चाहते है तो किसी एक प्रोग्रामिंग लैंग्वेज से जुड़ कर ना रहे आप ऐसा कर सकते हैं की किसी एक लैंग्वेज को आप अच्छी तरीके से सिख लें और अन्य प्रोग्रामिंग लैंग्वेज को धीरे धीरे सीखते रहे क्योकि अगर आपकी logic skill अच्छी हैं तो आपको कोई भी प्रोग्रामिंग लैंग्वेज सिखने में आसानी होगी और जल्दी सिख लेंगे.

दोस्तों उम्मीद हैं आपको यह पोस्ट अच्छी लगी हो और समझ में आ गया होगा अगर आपके मन  किसी भी प्रकार का सवाल है तो हमें कमेंट के ज़रिये ज़रूर पूछें और इस पोस्ट को share करना ना भूलें.
Read More