क्या blogging hindi me करना चाहिए ? - Technology Hindi Solution

आपको यहॉ Computer Tricks In Hindi, Computer Learning Blog In Hindi, Seo Tips In Hindi, Internet, Phone, Facebook, Android, Computer Tips And Tricks In Hindi, Best How To Article In Hindi, Ms Word, Ms Excel, Technology News In Hindi, Learn Hindi Typing, Google Seo Tips In Hindi,hacking trick,computers hacking ,mobile hacking ,hacking tools use ,Technology ,nono Technology , Facebook Tricks In Hindi ,tech news in hindi जो आपके कम्प्यूटर ज्ञान को बढाने में सहायक हो सकते हैं

New Post

Wednesday, December 19, 2018

क्या blogging hindi me करना चाहिए ?

                     क्या  blogging hindi me करना चाहिए ? 
नमस्कार दोस्तों मै thakur parthik एक बार फिर ब्लॉग्गिंग गाइड इन हिंदी “Technology hindi solution” ब्लॉग पर आपका स्वागत करता हु.

                       आज की पोस्ट का हमारा विषय है क्या blogging hindi Maine करना चाहिए ?

कुछ साल पहले web पर सिर्फ अंग्रेजी का प्रयोग हुआ करता था. पर अब हिंदी तथा अन्य भाषाओ के ब्लॉग हमे देखने मिल रहे है.


और जो हिंदी में Blogging शुरू करने की इच्छा रखते है उनके मन में कई ऐसे सवाल आते है की क्या blogging हिंदी में शुरू करना अच्छा रहेगा. क्या hindi diary sites पर ट्रैफिक आएँगी और क्या लोग इसे पढना पसंद करेंगे.

अगर आप भी यही सोच रहे है, तो आज हम इस topic को विस्तार से जानेंगे.

    KYA INDIANS HINDI blog PADHNA CHAHTE HAI ?



दोस्तों आपको पता है diary Kya Hai ?


Blog का which means है, often update होने वाली web site जो किसी विषय पर आपको detail में लिखित तौर पर information/ज्ञान देता है . जहा diary owner पोस्ट के द्वारा अपने विचार share करते है. इसका मतलब है की ब्लॉग एक जरिया है जिस से आप अपने साईट के विजिटर को कोई data शेयर कर सको.


भारत में English के मुकाबले राष्ट्र भाषा हिंदी समझने वाले लोग ज्यादा है और उन्हें English से Hindi ज्यादा अच्छी समझमे आती है. अग्रेजी स्कूल में पढ़ाने के बावजूद अग्रेजी, हिंदी जितनी आसन नहीं लगती.


आकड़ो की माने तो भारत की total population में से fifty three.60 % लोग हिंदी का प्रयोग करते है मात्र twelve.18 nada लोग ही English का प्रयोग कर पाते है.

Hindi Speakers In India

                                                        [ Image Source: Wikipedia ]


इन आकड़ो से हमे ये तो पता चलता है की हिंदी समझने वाले लोग इंग्लिश की मुकाबले ज्यादा है. अब देखते है क्या लोग गूगल पर भी hindi blogs padhna chahte hai और क्या गूगल हिंदी को सपोर्ट करता है?
ज़रूर पढ़िए:
KYA GOOGLE HINDI KO SUPPORT KARTA HAI ?


जी हाँ अब Google hindi KO bhi samjhne laga hai इसका कारन यह है गूगल का इस्तमाल करने वाले बेहत लोग हिंदी में ब्लोग्स पढना पसंद कर रहे है. इसलिए Indian bloggers hindi web site produce kar rahe hai. गूगल दीन ब दिन हिंदी को और अच्छे से समझ पाने के प्रयास में है. ताकि वो अपने users को अच्छा हिंदी content give कर सके.


2014 की Report के मुताबिक भारत में web का इस्तेमाल करने वाले लोगो में से twenty one ZIP लोग हिंदी को चुन रहे है. 2015 की रिपोर्ट कहती है हर पाच में से एक व्यक्ति हिंदी में इन्टरनेट पर पढने की रूचि रखता है.

और Hindi content की growth सालो साल ninety four ZIP से बढ़ रही है और English content nineteen ZIP से.
             Hindi content growing infographics adsense

इसलिए google adsense hindi को भी support करने लगा. Google hindi typewriting के लिए google input tools जैसे tools launch किये है. गूगल का कहना है hindi content यह भारतीय के लिए एक अवसर है. अब देखते है हिंदी वेबसाइट पर traffic और earning mumkin hai ya nahi.


KYA HINDI diary PAR TRAFFIC AUR EARNING doable HAI


आज कल बोहत सारे Indian Bloggers हिंदी में ब्लॉग बना रहे है. और उनके ब्लॉग पर traffic aur earning अछि होती है. Gopal Mishra जी का ब्लॉग Achhikhabar.com 2015 में three करोड़ page views का record बनाया है.

Hindi blogs par traffic आने के कारन adsense और affiliate से ब्लोग्गेर्स अच्छी earning कर रहे है.


हिन्दी ब्लोग्स की CPC थोड़ी low होती है English blogs के मुकाबले फिर भी हिंदी ब्लॉग से भी bloggers अच्छी earning कर रहे है. चलो Hindi Blogging के blessings and downsides देखते है.


Disadvantages:

Traffic सिर्फ India की targeted रहेगी foreign country जैसे United States की ट्रैफिक हिंदी ब्लोग्स पर नहीं आ सकती. US की traffic की Adsense CPC ज्यादा होती है,भारत की CPC के मुकाबले.


Advantages:


हिंदी ब्लोग्स में competition उतना नहीं है जितना English ब्लोग्स में है,क्यों के web पर English ब्लोग्स ज्यादा है. पोस्ट हिंदी में होने के कारन आपके users को blogging का topic अच्छे से समझ में आएगा जिससे वो दुबारा ब्लॉग पर आना चाहेंगे. CPC थोड़ी Low रह सकती है, पर फिर अभी आप अच्छी earning कर सकते हो.
ज़रूर पढ़िए:
  1.  WordPress क्या है? -Technology Hindi solution
  2.   WordPress.com और WordPress.org में क्या है - Technology Hindi solution
  3.  WordPress के लिए Privacy Policy Page कैसे बनाएं - TechnologyHindi solution
  4.  WordPress Blog पर AMP keise  Set kare in hindi -Technology Hindi solution
  5.  WordPress के लिए Right Web Hosting Choose कर ? Technology Hindi solution
  6.  CDN Setup कर Blog की Speed बढ़ाये -Technology Hindi solution
CONCLUSION:


Blogging Hindi Maine shuru karna koi galat derision नहीं है. अगर आप हिंदी ब्लॉग बनाना चाहते हो तो जरुर बनाये, क्यों के हिंदी या अंग्रेजी तो बस एक जरिया है जिससे आप diary के visitant को data दे सके.

भारतीय लोगो का और Google का भी support हिंदी भाषा को है, ऐसे में आप अपने ब्लॉग पर traffic ला कर और earning कर के एक undefeated हिंदी blogger बन सकते है.


हालांकि की English ब्लॉग में भी कोई बुराई नहीं है. आप अपनी सुविधा के अनुसार हिंदी या इंग्लिश भाषा को ब्लॉग्गिंग के लिए चुन सकते है.


दोस्तों अगर आपको ये पोस्ट helpful लगी तो जरुर Facebook पर इससे शेयर करे, और राष्ट्र भाषा Hindi को Support करे . धन्यवाद!

No comments:

Post a Comment