Click here to the Cookie consent Blogger में HTML Sitemap कैसे add करें -technology hindi solution - Technology Hindi Solution

आपको यहॉ Computer Course all book ,Computer Tricks, Computer Learning, Blogging Tricks,Seo Tips, Internet, SmatPhone, Facebook, Android, Computer Etc Tips And Tricks, Best How To Article trick, Ms Word, Ms Excel, Technology News, Learn Hindi Typing, Google Seo trick,hacking trick,computers hacking ,mobile hacking ,hacking tools use ,Technology ,nono Technology , Facebook,tech news, सब कुछ आपको हिंदी में मिलेगा जो आपके कम्प्यूटर ज्ञान को बढाने में सहायक हो सकते हैं

New Post

Wednesday, December 12, 2018

Blogger में HTML Sitemap कैसे add करें -technology hindi solution

Blogger blog में HTML Sitemap कैसे add करें – the way to add HTML Sitemap in Blogger blog ?

 hy Friends! how are you ? Welcome again to technologyhindisolution.com . दोस्तों आज के इस पोस्ट में मैं आपको बताऊंगा की Sitemap क्या होता है ? Sitemap कितने प्रकार के होते हैं और Blog में HTML Sitemap कैसे add करे.

       Sitemap क्या होता है और यह कितने प्रकार के होते हैं ?

Sitemap एक file होता है जो की blog के पोस्ट और pages का collection एक जगह पर store करके रखता है जिससे user और search engine को आपके सभी blog पोस्ट और pages एक जगह पर मिल जाते हैं जो की user और search engine दोनों के लिए ही आसान होता है|


दुसरे शब्दों में कहें तो Sitemap एक index के जैसा होता है जो की सभी पोस्ट के लिंक को एक जगह पर add करके रखता है जिससे user और search engine दोनों ही किसी भी पोस्ट आसानी से search कर सकें| जैसे आपने किताब में देखा होगा की सबसे पहले index page रहता है जो सभी chapter और topic का paging और नाम रखता है जिससे reader उस topic को आसानी से किसी एक pagingपर search कर सकें|


ज़रूर पढ़िए:



Sitemap दो प्रकार के होते हैं पहला XML Sitemap और दूसरा HTML Sitemap.



XML sitemap भी एक file होता है जिसका extension .xml होता है| यह blog या website के सभी पोस्ट और pages के assortmentको एक जगह पर रखता है जो की search engine के लिए useful होता है| XML sitemap search engine के द्वारा use होता है| जब भी कोई search engine आपके blog post या page को index करता है तो वह सबसे पहले sitemap file को देखता है उसके बाद ही आपके blog में enter करता है|


HTML sitemap भी एक file होता है जिसका extension .HTML होता है| यह blog के सभी पोस्ट के लिंक को एक जगह पर store करके रखता है जिससे user आसानी से किसी भी पोस्ट को search कर सकता है| HTML sitemap, user के लिए useful होता है| यह easy type में यानि की clear text के type में blog पोस्ट के लिंक को एक जगह पर add करके रखता है|

XML और HTML sitemap में केवल एक ही distinction है की XML sitemap search engine के द्वारा use होता है जबकि HTMLsitemap user के द्वारा use होता है|


Blogger blog में HTML sitemap कैसे add करें ?


यदि आप अपने blogger blog में HTML sitemap को add करना चाहते हैं तो उसके लिए आपको कुछ code add करने पड़ेंगे| और एक नया page create करना होगा जो की Sitemap page होगा|

सबसे पहले निचे दिया गया CSS code को copy करें|



#bp_toc {
    color: #666;
    margin: 0 auto;
    padding: 0;
    border: 1px solid #d2d2d2;
    float: left;
    width: 100%;
}
span.toc-note {
    display: none;
}
#bp_toc tr:nth-child(2n) {
    background: #f5f5f5;
}
td.toc-entry-col1 a {
    font-weight: bold;
    font-size: 14px;
}
.toc-header-col1,
.toc-header-col2,
.toc-header-col3  {
background:#9E9E9E;
}
.toc-header-col1 {
    padding: 10px;
    width: 250px;
}
.toc-header-col2 {
    padding: 10px;
    width: 75px;
}
.toc-header-col3 {
    padding: 10px;
    width: 125px;
}
.toc-header-col1 a:link,
.toc-header-col1 a:visited,
.toc-header-col2 a:link,
.toc-header-col2 a:visited,
.toc-header-col3 a:link,
.toc-header-col3 a:visited {
    font-size: 13px;
    text-decoration: none;
    color: #fff;
    font-weight: 700;
    letter-spacing: 0.5px;
}
.toc-header-col1 a:hover,
.toc-header-col2 a:hover,
.toc-header-col3 a:hover {
    text-decoration: none;
}
.toc-entry-col1,
.toc-entry-col2,
.toc-entry-col3 {
    padding: 5px;
    padding-left: 5px;
    font-size: 12px;
}
.toc-entry-col1 a,
.toc-entry-col2 a,
.toc-entry-col3 a {
    color: #666;
    font-size: 13px;
    text-decoration: none
}
.toc-entry-col1 a:hover,
.toc-entry-col2 a:hover,
.toc-entry-col3 a:hover {
    text-decoration:underline;
}
#bp_toc table {
    width: 100%;
    margin: 0 auto;
    counter-reset: rowNumber;
}
.toc-entry-col1 {
    counter-increment: rowNumber;
}
#bp_toc table tr td.toc-entry-col1:first-child::before {
    content: counter(rowNumber);
    min-width: 1em;
       min-height: 3em;
    float: left;
    border-right: 1px solid #fff;
    text-align: center;
    padding: 0px 11px 1px 6px;
    margin-right: 15px;
}
td.toc-entry-col2 {
    text-align: center;
}
          अब उसके बाद अपने Gmail और arcanum के हेल्प से Blogger dashboard में login करें|

Blogger dashboard में login करने के बाद left facet में Theme पर click करें और उसके बाद Customise पर click करें|
Theme and Customise

अब आपके सामने एक नया page show होगा जिसमें Advanced पर click करें और फिर उसके बगल में Add CSS पर click करें| यदि आप blogger का डिफ़ॉल्ट templet का उपयोग कर रहे हैं तो Add CSS के लिए आपको Advanced के बगल वाले space में स्क्रॉल करना होगा|



adding CSS code


अब उसके बाद एक code box show होगा जिसमें copy किया हुआ CSS code को paste करें और फिर सबसे ऊपर right 
facet में Apply to journal पर click करें|



अब फिर से Blogger dashboard में वापस आने के लिए Back to journalger पर click करें जो की Apply to blog के left facet में ही होता है|



अब उसके बाद निचे दिया गया JavaScript code को copy करें|

अब blogger dashboard के left aspect में Pages choice पर click करें| आप जैसे ही pages choice पर click करेंगे तो एक नया page show होगा जिसमें New page पर click करें|

अब आपके सामने एक text editor show होगा जिसमें दो box show होंगे सबसे ऊपर वाले box में Sitemap File लिखें और फिर tools area के ऊपर left facet में HTML के choice पर click करें| अब कुछ HTML code भी show हो रहा होगा जिसे delete कर दें|


Add sitemap go in blog


अब आपके सामने 
HTML page show होने लगेगा जिसमें copy किया हुआ JavaScript code को paste करें और उसके बाद Publish पर click करें|



अब आप अपने page का preview देख सकते हैं आपके सभी पोस्ट का लिंक एक जगह पर show होगा|

Blogger blog में भी अब सभी तरह के facility available होने लगे हैं| अब आपको WordPress पर मूव करने की कोई आवश्यकता नहीं है|
ज़रूर पढ़िए:
  1.  WordPress क्या है? -Technology Hindi solution
  2.   WordPress.com और WordPress.org में क्या है - Technology Hindi solution
  3.  WordPress के लिए Privacy Policy Page कैसे बनाएं - TechnologyHindi solution
  4.  WordPress Blog पर AMP keise  Set kare in hindi -Technology Hindi solution
  5.  WordPress के लिए Right Web Hosting Choose कर ? Technology Hindi solution
  6.   CDN Setup कर Blog की Speed बढ़ाये -Technology Hindi solution

Conclusion and Final Words

Sitemap एक जगह पर सभी content के लिंक को add करके user और search engine के लिए आसान राह बना देता है जो की user और program दोनों के time का बचत करता है| यह तब useful होता है जब आपके blog पर बहुत सारा पोस्ट available हो|

बहुत सारे लोग blogger platform को सिर्फ इसलिए छोड़ देते हैं क्योंकि blogger platform बहुत ज्यादा facility offer नहीं करता है पर अब ऐसा नहीं है blogger platform के लिए भी बहुत सारे facility available हो चुके हैं बस आपको जानने की जरुरत है|

दोस्तों मुझे उम्मीद है की यह पोस्ट आपको बहुत पसंद आया होगा| यदि यह पोस्ट आपको पसंद आया तो इस पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ जरुर share करें और यदि इस पोस्ट से connected आपका कोई भी सवाल हो तो आप मुझे जरुर बताएं मैं आपके प्रॉब्लम का solutionदूंगा| thanks for Visit technologyhindisolution
                                                                  

No comments:

Post a Comment