Click here to the Cookie consent Technology Hindi Solution

Technology Hindi Solution

आपको यहॉ Computer Course all book ,Computer Tricks, Computer Learning, Blogging Tricks,Seo Tips, Internet, SmatPhone, Facebook, Android, Computer Etc Tips And Tricks, Best How To Article trick, Ms Word, Ms Excel, Technology News, Learn Hindi Typing, Google Seo trick,hacking trick,computers hacking ,mobile hacking ,hacking tools use ,Technology ,nono Technology , Facebook,tech news, सब कुछ आपको हिंदी में मिलेगा जो आपके कम्प्यूटर ज्ञान को बढाने में सहायक हो सकते हैं

New Post

Tuesday, July 16, 2019

Features / Characteristics of Computer (कंप्यूटर की विशेषताये) -Technology Hindi Solution

July 16, 2019 0

          कंप्यूटर क्या हैं ? (What is Computer)

Computer एक ऐसा Electronic Device है जो User द्वारा Input किये गए Data में प्रक्रिया करके सूचनाओ को Result के रूप में प्रदान करता हैं, अर्थात् Computer एक Electronic Machine है जो User द्वारा दिए गए निर्देशों का पालन करती हैं|
                   Features / Characteristics of Computer (कंप्यूटर की विशेषताये) -Technology Hindi Solution
Features / Characteristics of Computer (कंप्यूटर की विशेषताये) -Technology Hindi Solution

Features / Characteristics of Computer (कंप्यूटर की विशेषताये)

Speed (गति)

आप पैदल चल कर कही भी जा सकते है फिर भी साईकिल, स्कूटर या कार का इस्तेमाल करते है ताकि आप किसी भी कार्य को तेजी से कर सके Machine की सहायता से आप कार्य की Speed बड़ा सकते है इसी प्रकार Computer किसी भी कार्य को बहुत तेजी से कर सकता है Computer कुछ ही Second में गुणा, भाग, जोड़, घटाना जैसी लाखो क्रियाएँ कर सकता है यदि आपको 500*44 का मान ज्ञात करना है तो आप 1 या 2 Minute लेगे यही कार्य कैलकुलेटर से करे तो वह लगभग 1 या 2 Second का समय लेगा पर कंप्यूटर ऐसी लाखों गणनाओ को कुछ ही सेकंड में कर सकता हैं|

Automation (स्वचालन)

हम अपने दैनिक जीवन में कई प्रकार की स्वचलित मशीनों का Use करते है Computer भी अपना पूरा कार्य स्वचलित (Automatic) तरीके से करता है कंप्यूटर अपना कार्य, प्रोग्राम के एक बार लोड हो जाने पर स्वत: करता रहता हैं|

 Accuracy (शुद्धता)

Computer अपना सारा कार्य बिना किसी गलती के करता है यदि आपको 10 अलग-अलग संख्याओ का गुणा करने के लिए कहा जाए तो आप इसमें कई बार गलती करेगे | लेकिन साधारणत: Computer किसी भी Process को बिना किसी गलती के पूर्ण कर सकता है Computer द्वारा गलती किये जाने का सबसे बड़ा कारण गलत Data Input करना होता है क्योकि Computer स्वयं कभी कोई गलती नहीं करता हैं|

Versatility (सार्वभौमिकता)

Computer अपनी सार्वभौमिकता के कारण बढ़ी तेजी से सारी दुनिया में अपना प्रभुत्व जमा रहा है Computer गणितीय कार्यों को करने के साथ साथ व्यावसायिक कार्यों के लिए भी प्रयोग में लाया जाने लगा है| Computer का प्रयोग हर क्षेत्र में होने लगा है| जैसे- Bank, Railway, Airport, Business, School etc.

High Storage Capacity (उच्च संग्रहण क्षमता)

एक Computer System में Data Store करने की क्षमता बहुत अधिक होती है Computer लाखो शब्दों को बहुत कम जगह में Store करके रख सकता है यह सभी प्रकार के Data, Picture, Files, Program, Games and Sound को कई बर्षो तक Store करके रख सकता है तथा बाद में हम कभी भी किसी भी सूचना को कुछ ही Second में प्राप्त कर सकते है तथा अपने Use में ला सकते है|

Diligence (कर्मठता)

आज मानव किसी कार्य को निरंतर कुछ ही घंटो तक करने में थक जाता है इसके ठीक विपरीत Computer किसी कार्य को निरंतर कई घंटो, दिनों, महीनो तक करने की क्षमता रखता है इसके बावजूद उसके कार्य करने की क्षमता में न तो कोई कमी आती है और न ही कार्य के परिणाम की शुद्धता घटती हैं| Computer किसी भी दिए गए कार्य को बिना किसी भेदभाव के करता है चाहे वह कार्य रुचिकर हो या न हो |

Reliability (विश्वसनीयता)

Computer की Memory अधिक शक्तिशाली होती है Computer से जुडी हुई संपूर्ण प्रक्रिया विश्वसनीय होती है यह वर्षों तक कार्य करते हुए थकता नहीं है तथा Store Memory वर्षों बाद भी Accurate रहती हैं|

Power of Remembrance (याद रखने की क्षमता)

व्यक्ति अपने जीवन में बहुत सारी बाते करता है लेकिन महत्वपूर्ण बातों को ही याद रखता है लेकिन Computer सभी बाते चाहे वह महत्वपूर्ण हो या ना हो सभी को Memory के अंदर Store करके रखता है तथा बाद में किसी भी सूचना की आवश्यकता पड़ने पर उपलब्ध कराता हैं|
सरल शब्दों में सारांश (Summary Words)
  1. कम्‍प्‍यूटर एक ऐसा इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस है जो यूजर द्वारा इनपुट किये गए डाटा में प्रक्रिया करके सूचनाओ को परिणाम के रूप में प्रदान करता हैं।
  2. कम्‍प्‍यूटर एक इलेक्‍ट्रॉनिक मशीन हैं जो यूजर द्वारा दिए गए निर्देशों का पालन करती हैं।
  3. कम्‍प्‍यूटर द्वारा गलती किये जाने का सबसे बड़ा कारण गलत डाटा इनपुट करना होता है।
  4. कम्‍प्‍यूटर गणितीय कार्यों को करने के साथ-साथ व्यावसायिक कार्यों के लिए भी प्रयोग में लाया जा सकता हैं।
  5. हम किसी कम्‍प्‍यूटर सिस्‍टम में डाटा को कई वर्षो तक स्‍टोर करके रख सकते हैं तथा बाद में कभी भी कुछ ही सेकेण्ड में उस सूचना को प्राप्‍त कर सकते हैं।
Read More

MOTO G7 PLAY – Price, Launch Date, Full Specification and Overview

July 16, 2019 0

MOTO G7 PLAY – Price, Launch Date, Full Specification and Overview

                                       Image result for moto g7 play
MOTO G7 PLAY launched globally today is around the corner and will soon to be launched in the Indian market. The phone completes MOTO G7 series and will aim for that budget market section. The Phone focuses more on performance than design, which can be disappointing for some people. Certainly, it will face some serious competition in the market  Looking at the price point which it will be coming there are already some good brands and phones available with higher specs and good design. Let’s see if the phone makes its place in the budget section.
MOTO G7 PLAY Design Overview:
MOTO G7 PLAY promises on a compact design with huge performance. Don’t go on the small size it bundles with a Qualcomm® Snapdragon™ 632 octa-core processor and an ultrawide 5.7″ Max Vision HD+ display for games, movies, and photos to load fast and look stunning. Also you’ll never miss a moment with a fast-focusing 13 MP camera.
MOTO G7 PLAY Performance:
MOTO G7 PLAY  comes with a tagline “110% faster performance”, so nomore annoying delays and interruptions while playing games or watching videos. With a Qualcomm® Snapdragon™ 632 octa-core processor, moto g⁷ play is 110% faster than before. It’s designed for lag-free performance in everything you do.
MOTO G7 PLAY Display:
MOTO G7 PLAY  packs a brilliant ultrawide Max Vision display which enjoy’s expansive views on an edge-to-edge, 5.7” HD+ display that still fits comfortably in your hand. The 19:9 aspect ratio provides a big screen viewing experience, fully immersing you in movies, games, photos, and more.
MOTO G7 PLAY Display:
The 13 MP rear camera clicks some clear and bright photo anytime and anywhere. It uses phase detection autofocus (PDAF) to capture your subject in an instant. And with a built-in flash on the 8 MP front camera, selfies turn out great even in low light conditions.
MOTO G7 PLAY Battery:
MOTO G7 PLAY includes withtThe 3000 mAh battery(40-hour battery with rapid charging)lasts more than a full day on a single charge. When you’re low on power, the 10W rapid charger gives you hours of power in just minutes.
MOTO G7 PLAY Extra’s:
MOTO G7 Play comes with a water-repellent design which protects against accidental spills, sweat, and light rain. There is a dedicated microSD card slot to store more photos, songs, and movies. With facial recognition software in the front-facing camera, you can unlock your phone with a glance. The fingerprint sensor discreetly hidden within the logo which makes it look cool.
Expected Price: 2GB + 32GB @ ₹11,990
Expected Launch Date: March 2019
Eva’s Early Impressions:
The phone already lacks on design and performance front. There are many beautifully designed and well spec’d phone in the market and the competition goes tough with Samsung, Redmi and ASUS. At this price point, the phone comes with a 2GB and 32GB only variant which can be expandable up to 128 GB. Also, the phone lacks in the battery area it has a 3000mAh battery which spoils the game completely. Looking at the spec sheet and the design we do not see a rock solid phone or competition. Let’s see if the phone makes some place in the budget section.

              MOTO G7 PLAY Specifications:

PerformanceOperating System: Android™ 9 Pie
Processor: Qualcomm® Snapdragon™ 632 processor with
 1.8GHz octa-core CPU and Adreno 506 GPU
Memory (RAM): 2 GB
Internal Storage: 32 GB
Expandable Storage: microSD Card support (up to 128 GB)**
Security: Moto Face Unlock, fingerprint reader
Sensors: Proximity, Accelerometer, Ambient Light,
Gyroscope, Magnetometer (e-Compass), Sensor Hub
Certifications: Android Enterprise Recommended
BatteryBattery Size: 3000 mAh, Embedded
Battery Life: 40 hours
Charging: 10W rapid charging
Charger Type: USB-C 10W rapid charger
DisplayDisplay Size: 5.7”
Display Technology: IPS LCD
Display Design: Corning® Gorilla® Glass 3
Resolution: HD+, 294 ppi
Aspect Ratio: 19:9 (1512x720)
Display Features: Moto Display
DesignDimensions: 148.71 x 71.5 x 8.09 mm
Weight: 168 g
Body: Plastic resin
Water Protection: Water repellent design with P2i nano coating
Ports: USB-C port (for charging and, data transfer),
USB 2.0, 3.5mm headphone jack
ColorsDeep Indigo and Starry Black
CameraRear Camera Hardware: 13MP, f2.0, PDAF, 1.12um pixels, LED flash
Rear Camera Software: Burst shot, Auto HDR, Timer, ZSL,
High-res zoom, Portrait mode, Panorama, Manual mode,
RAW photo output,Spot color,
Best shot, Google Lens™ integration, Watermark
Rear Camera Video Capture: 1080P(30fps), 720P(30fps),
 480P(30fps), 4K video, Slow motion video, Timelapse video,
Hyperlapse video,
Snap in video recording, Video stabilization, Youtube Live Stream,
Front Camera Hardware: 8MP, f2.2, 1.12um pixels, LED selfie flash
Front Camera Software: Auto HDR, ZSL, Burst shot, Best shot,
Timer, Manual mode, Face beauty, Portrait mode, Group selfie,
 Spot color, Best shot, Watermark
Front Camera Video Capture: Slow motion video,
 Timelapse video, Hyperlapse video, Snap in video recording,
Youtube Live Stream
AudioSpeakers: 1 speaker
Microphones: 2 microphones
Headphone Jack: 3.5mm headphone jack
FM Radio: Yes
Connectivity
Networks + Bands: Carrier Aggregation, 4G LTE (DL Cat 7/ UL Cat 6), 
CDMA / EVDO Rev A, UMTS / HSPA+, GSM / EDGE 2G: 
GSM band 2/3/5/8 
CDMA BC0/BC1/BC10, 3G: WCDMA band 1/2/4/5/8, 4G: 
FDD LTE band 1/2/3/4/5/7/8/12/13/14/17/20/25/26/29/30/66/71, 
TDD LTE band 38/39/40/41/41 HPUE
SIM Card: Single nano-SIM
Bluetooth? Technology: Bluetooth? 4.2 LE, aptX
Wi-Fi: 802.11 a/b/g/n,2.4GHz + 5GHz, Wi-Fi hotspot
NFC: No
Location Services: GPS, AGPS, LTEPP, SUPL,GLONASS
In The BoxDevice: moto g7 play
Components: 10W charger, USB-C Cable, SIM pin, Guides
Read More

Xiaomi Redmi 6 pro – Best Midrange Phone on Amazon

July 16, 2019 0
Xiaomi Redmi 6 pro was launched in Oct 2018 in India and since then it is one of the bestselling phones in that midrange budget category. The phone comes in two variants and has loads of features to talk about. The Display is a next-generation immersive display with Full Screen experience. The Redmi 6 Pro stunning view is delivered with its 14.8cm (5.84) Full Screen FHD+ (1080*2280)Notched Display with 19:9 aspect ratio. It even lets you to “”hide the notch,”” so you can choose the display mode that works for you. The 12MP + 5MP flagship-level rear camera takes stunningly clear pictures whether you’re in a dim room or under bright sunlight. 
The AI makes background blurring more accurate, so portraits are more natural. The 5MP front camera takes some spectacular selfies with HDR mode, AI portrait mode and AI beautify. Talking about the Performance the Snapdragon™ 625 octa-core processor with its 14nm technology gives robustness to the phone and remarkable speed, meaning you can handle large apps with ease and always get a smooth gaming experience. The 4000mAh capacity combined with low power consumption of the Snapdragon™ 625 delivers astonishingly long lasting performance. 
The integration of MIUI 9’s machine learning optimization helps save even more power. As soon as the screen lights up the AI face unlock, unlocks the phone in a flash thanks to the  AI face technology which instantly recognizes your face and unlocks the phone. The phone is expandable upto 256GB and the 2 + 1 card slots allow for dual nano SIM cards and microSD expansion of up to 256GB. No more worrying about running out of storage.
Pros
Excellent screen and bright display
Smooth system and gaming performance
Dedicated nano SIM cards and microSD expansion
Cons:
Design is ok
No Fast Charging support
Little bit on heavier side 178gms
Buy Redmi 6 Pro 4GB + 64GB varaint:
Buy Redmi 6 Pro 3GB + 32GB varaint:

 Xiaomi Redmi 6 pro Specifications :

Processor & Memory"Qualcomm® Snapdragon™ 625, up to 2.0 GHz
3 GB + 32 GB / 4 GB + 64 GB
Adreno 506 graphics processing unit
Supports expandable storage
up to 256GB (VFAT format)"
Rear camera"AI dual camera
12MP + 5MP dual camera
PDAF phase focus
f/2.2 aperture"
Video"1080p video, 1920x1080 30fps
720p video, 1280x720 30fps
480p video, 720x480 30fps
Slow motion video, 720p 120fps"
Front camera"5MP front camera
AI portrait mode, single camera background blurring
AI beautify"
Display"14.8cm (5.84) FHD+ (1080*2280)Notched
Full Screen Display
432 PPI, 1500:1 contrast ratio 
1080x2280 resolution "
Dimensions"Height: 149.33mm 
Width: 71.68mm 
Thickness: 8.75mm
Weight: 178g"
Network and Connectivity"Dual SIM + Dedicated microSD card tray-
Nano-SIM + Nano-SIM + expandable microSD card

Network bands:
GSM B2/3/5/8 
WCDMA B1/2/5/8 
FDD-LTE B1/3/5
TD-LTE B40/41(2535-2655MHz)

Wireless:
802.11 a/b/g/n 
Bluetooth 4.2
WiFi Direct,WiFi Display
WiFi 2.4G, WiFi 5G"
Battery"4000mAh(typ)/3800mAh(min)
Non-removable
5V2A charging"
Navigation and positioningGPS, AGPS, GLONASS, Beidou
SensorsInfrared, Electronic compass, Gyroscope,
 Finger Print Sensor,
Accelerometer, Ambient light sensor, Proximity sensor,
Vibration Motor
Package ContentsRedmi 6 Pro / Adapter / USB cable / SIM eject tool /
Warranty card / User guide / Clear soft case
Read More

कम्‍प्‍यूटर के अनुप्रयोग (Applications of Computer ) -Technology hindi Solution

July 16, 2019 0

कम्‍प्‍यूटर के अनुप्रयोग (Applications of Computer )

कम्‍प्‍यूटर आधुनिक जीवन का एक महत्‍वपूर्ण अंग बन गया हैं। देश के राष्‍ट्रपति से लेकर एक लिपिक या आम आदमी तक कम्‍प्‍यूटर के प्रभाव से कोई अछूता नहीं हैं। यदि देश की सरकार जनगणना के कार्य को कम्‍प्‍यूटर के बिना नहीं कर सकती हैं तो भारतीय रेलवे अपनी आरक्षण-प्रणाली को इसके बिना इतने प्रभावशाली रूप से नहीं चला सकती। विश्‍वविद्यालय एवं शिक्षण संस्‍थान कम्‍प्‍यूटर की सहायता से हजारों अंकतालिकाऍ बहुत कम समय में ही तैयार कर लेते हैं।
                        कम्‍प्‍यूटर के अनुप्रयोग (Applications of Computer ) -Technology hindi Solution

कई संगठन अपने कार्यालयों की प्रणाली का संचालन कम्‍प्‍यूटर के द्वारा ही कर रहे हैं। बैंको में किये जाने वाले लेन-देन को कम्‍प्‍यूटर ही आज सुचारू रूप से कह रहा हैं। आज की प्रभावशाली टेलीफोन व्‍यवस्‍था सम्‍पूर्ण रूप से कम्‍प्‍यूटरीकृत हो गई है। हम घर में बैठकर टी.वी (T.V) के जो कार्यक्रम देखते हैं, वे सभी आज कम्‍प्‍यूटर द्वारा ही संपादित किये जाते हैं और उन्‍हें हम तक पहुँचाने में भी कम्‍प्‍यूटर अपनी भूमिका उपग्रह के साथ मिलकर निभाता हैं।

भारतवर्ष एक विकासशील देश हैं और इसकी एक प्रमुख समस्‍या बेरोजगारी हैं। इसे दूर करने के लिए भी कम्‍प्‍यूटर ने रोजगार के नये द्वारा खोले हैं। आज भारत दुनिया में सॉफ्टवेयर (Software) के निर्यातकों में से एक हैं, अत: इस क्षेत्र में रोजगार बढ़ा हैं।

Computer In Household And Personal Use (घरों और व्‍यक्तिगत कार्यों में कम्‍प्‍यूटर का प्रयोग)

सन् 1970 में जब माइक्रो कम्‍प्‍यूटर का विकास हुआ तो कम्‍प्‍यूटर को घर के उपयोग में लाने की केवल कल्‍पना ही की जा सकती हैं। आज यह कल्‍पना साकार होती जा रही हैं। माइक्रो कम्‍प्‍यूटर के विभिन्‍न छोटे आकार के और सुविधाजनक मॉडल हम अपने व्‍यक्तिगत कार्यों के लिए घरों में स्‍थापित कर सकते हैं। यह एक डेस्‍क (Disk) पर या एक ब्रीफकेस में रखा जा सकता हैं। इन्‍हें निम्‍नलिखित रूपों में घरों में या व्‍यक्तिगत कार्यों में प्रयोग किया जाता हैं|

1. रसोईघर में (In Kitchen) 

इलेक्‍ट्रॉनिक प्रोसेसर और मेमोरी का रसोई सम्‍बन्‍धी यन्‍त्रों, जैसे, माइक्रोवेव ऑवन (Microwave Oven) में प्रयोग होता हैं।

2. कम्‍प्‍यूटरीकृत कार (Computerized Cars)

आधुनिक कारों में कम्‍प्‍यूटर के द्वारा सभी नियन्‍त्रण जैसे- कार-मालिक की आवाज पहचानकर दरवाजा खुल जाना, पेट्रॉल की उचित मात्रा की चेतावनी, कार की सतह को इच्‍छानुसार परिवर्तित करना, सड़क व शहर का मानचित्र उपलब्‍ध कराना आदि संचालित होते हैं।

3. कम्‍प्‍यूटरीकृत घर (Computerized Homes)

आजकल घरों को कम्‍प्‍यूटर-नियंत्रित बनाया जा रहा हैं। कंप्यूटर मेहमानों का स्‍वागत व उनकी पहचान करते हैं, लॉन (Lawn) में पानी देने का काम करते हैं, जबकि हम घर से अनुपस्थित हों। ये घर के तापमान को भी स्‍वत: नियंत्रित करते हैं।

4. व्‍यक्तिगज रोबोट नौकर (Personal Robot Servants)

रोबोट (Robot) को केवल फैक्ट्रियों मे खतरनाक कार्यों को करने वाला ही नहीं समझना चाहिए। इसे व्‍यक्तिगत कार्यो के लिए नौकर भी बनाया जा सकता हैं। रोबोट कम्‍प्‍यूटर द्वारा संचालित एक ‘यान्त्रिक-मानव’ होता हैं।

5. घर से बैकिंग और खरीदारी (Home Banking And Shopping)

इलेक्‍ट्रॉनिक फण्‍ड ट्रासंफर (Eft -Electronic Fund Transfer ) प्रणाली बैंक की एक ऐसी सुविधा हैं जिससे हम बैकों, यातायात एजेन्सियों और दुकानों से रूपयों का लेन-देन घर में लगे कम्‍प्‍यूटर की सहायता से कर सकते हैं। घर में लगा कम्‍प्‍यूटर टेलीफोन लाइन से जुड़ा रहता हैं जिसका सम्‍पर्क इण्‍टानेट (Internet) से होता हैं

6. आधुनिक कुटीर उद्योग (Modern Cottage Industries)

आजकल कम्‍प्‍यूटर ने सूचना को विक्रय योग्‍य एवं उपयोगी वस्‍तु बना दिया हैं जिससे घर से चलाये जा सकने वाले व्‍यवसायों का उदय हुआ हैं। डी.टी.पी. (Dtp-Desk Top Publishing) का ऐसा व्यवसाय हैं जिसमें कम्‍प्‍यूटरों से प्रकाशन के कार्य घर में ही किये जा सकते हैं।डिश एंटिना लगाकर उपग्रह से संपर्क स्‍थापित करने वाला केन्‍द्र हम कम्‍प्‍यूटर की मदद से घर में ही बना सकते हैं।

    शिक्षा के क्षेत्र में कम्‍प्‍यूटर का प्रयोग (Computer In Education)

1940 और 1950 के दशक में कम्‍प्‍यूटर को तेजी से गणना करने के लिए स्‍थापित किया गया था। कम्‍प्‍यूटर का शिक्षा में उपयोग बढ़ाने के लिए पहला प्रयास जॉन कैमनी (John Kemeny) ने 1960 के दशक में किया जब उन्‍होंने बेसिक (Basic) कम्‍प्‍यूटर-भाषा का विकास किया। यह भाषा जल्‍दी ही डार्ट माउथ महाविद्यालय के विद्यार्थीयों के जीवन का अंग बन गई।

1. कम्‍प्‍यूटर सीखना‍ (Learning About Computer)

कम्‍प्‍यूटर आज जनसाधारण का यंत्र हैं। अत: यह अब एक उपकरण मात्र से एक सम्‍पूर्ण विद्या में परिवर्तित हो गया हैं। हर व्‍यक्ति कम्‍प्‍यूटर जानने को आतुर हैं। फलस्‍वरूप विश्‍वविद्यालयों ने नये-नये ट्रेड्स और पाठ्यक्रमों को निकाल रहे हैं। कम्‍प्‍यूटर विज्ञान, सूचना देने हेतु संस्‍थानों की संख्‍या दिन ब दिन बढ़ रही हैं।

2. कम्‍प्‍यूटर एक शिक्षक के रूप में (Computer As A Teacher)

कम्‍प्‍यूटर असिस्‍टेड इंस्‍ट्रक्‍शन (Computer Assisted Instruction) कम्‍प्‍यूटर का एक सॉफ्टवेयर हैं जो कम्‍प्‍यूटर को एक शिक्षक का रूप दे देता है उदाहरण के लिए माध्‍यमिक स्‍तर का विधार्थी कम्‍प्‍यूटर में चल रहे सी.ए.आई (Cai) में बीजगणित का अध्‍ययन करे तो सी.ए.आई. (Cai) विद्यार्थी कम्‍प्‍यूटर की स्‍क्रीन पर बीजगणित का एक सवाल हल करने के लिए देगा, विद्यार्थी उसे यदि सही हल करता हैं तो सी.ए.आई. (Cai) अगला सवाल हल करने के लिए सवाल का हल गलत हैं तो यह सॉफ्टवेयर स्‍क्रीन पर एक सवाल का सही हल दिखाएगा और साथ ही पुन: हल करने के लिए वैसा ही नया सवाल विद्यार्थी को दिया जायेगा। बाद में प्रश्‍नावली के पूर्ण होने पर कम्‍प्‍यूटर विद्यार्थी को प्रगतिपत्र छापकर  उसके प्राप्‍तांक भी दे सकता हैं।

कम्‍प्‍यूटर प्रबंधित इंस्‍ट्रक्‍शन (Computer Managed Instruction ) जिसे संक्षेप में सी.एम.आई. (Cmi) कहा जाता हैं, एक और सॉफ्टवेयर हैं जो कम्‍प्‍यूटर पर पुस्‍तकें पढ़ने की सुविधा देता हैं। इसके साथ ही विद्यर्थी इसकी सहायता से अपने लेख परस्‍पर जुड़े कम्‍प्‍यूटरों में भेज सकते हैं। इस प्रकार विषय-वस्‍तु एक कम्‍प्‍यूटरों में भेज सकते हैं। इसलिए कम्‍प्‍यूटर प्रबंधित इंस्‍ट्राक्‍शन को बड़े स्‍तर पर इलेक्‍ट्रॉनिक विश्‍वविद्यालय (Electronic University) भी कहते  हैं।
कम्‍प्‍यूटर में वीडियो सी.डी. (Video Cd) के उपयोग से हम किसी भी विषय के बिन्‍दुओं का फिल्‍म के रूप में अध्‍ययन कर सकते हैं।

3. समस्‍या-समाधान (Problem Solving)

अध्‍ययन में कठिन समस्‍याओं को कम्‍प्‍यूटर सरल कर देता हैं कम्‍प्‍यूटर एक समस्‍या के हल अनेक व्‍यक्तियों के तर्कों का उपयोग तेजी से कर लेता हैं जिससे समस्‍या शीघ्र हल हो जाती हैं

4. प्रशिक्षण तथा परीक्षा में कम्‍प्‍यूटर (Computer In Training And Examination)

आज प्रतिष्ठित संगठनों द्वारा कई ऑनलाइन पाठ्यक्रम चालाए जा रहे हैं। आप माइक्रोसॉफ्ट कॉरपोरेशन, सन कॉरपोरेशन द्वारा उनके उत्‍पादों पर प्रशिक्षित किये जा सकते हैं। आप ऑनलाइन उनके साथ लिये जाने वाले परीक्षाओं में बैठ सकते हैं और उसमें सफल होने पर उन‍से डिग्री भी प्राप्‍त कर सकते हैं। मैग्‍नेटिक इंक रिकॉगनिशन एक ऐसी प्रोद्योगिक हैं जो परीक्षा पास कर बैकिंग तथा अन्‍य वस्‍तुनिष्‍ठ परीक्षाओं की उत्‍तर पुस्तिकाओं को अद्भुत गति और शु्द्धता के साथ जॉचने में सहायक होती हैं।

मनोरंजन के क्षेत्र में कम्‍प्‍यूटर का प्रयोग (Computers In Entertainment)

कम्‍प्‍यूटर आज सबसे अधिक मनोंरजन करने वाले यंत्रो में एक हैं। यदि शिक्षित वर्ग में मतगणना करवाया जाए, तो मैं समझता हूँ कि लोगों का बहुमत वोट कम्‍प्‍यूटरों को मरोरजंन के मुख्‍य के रूप में जाएगा। प्रत्‍यक्ष या अप्रत्‍यक्ष कम्‍प्‍यूटर आज का एक बड़ा मनोरंजनकर्ता है। मैं तब बिल्‍कुल चकित रह गया जब मैनें कुछ महीने पहले (Youtube.Com) को लॉग किया। वहॉं मुझे वो तमाम गाने और वीडियों सुनने को मिले जो मैनें चाहा था और मै यकीन के साथ कह सकता हूँ कि इतना बड़ा म्‍यूजिकल स्‍टोर संसार के किसी भी कोने में नहीं होगा। इस खण्‍ड में मनोंरंजन के अन्‍य मुख्‍य क्षेत्रों का वर्णन किया जा रहा है जहॉं कम्‍प्‍यूटर बिल्‍कुल जरूरी बन गया हैं।

1. खेल (Games)

कम्‍प्‍यूटर में हम मनोरंजन और बौद्धिक क्षमता बढ़ाने वाले खेलों का आनंद ले सकते हैं।

2. चलचित्र (Movies)

फिल्‍म-उघोग  में कम्‍प्‍यूटर से चलचित्रों में अनेक फोटोग्राफिक प्रभाव, संगीत प्रभाव, एक्‍शन प्रभाव आदि को उत्‍पन्‍न किया जाता हैं। कम्‍प्‍यूटर में मल्‍टीमीडिया (Multimedia) तकनीक की सुविधा से काल्‍पनिक दृश्‍य भी जीवं-से लगते हैं। आपको याद होगा, पिछले दशक में एक फिल्‍म ‘जुरासिक पार्क (Jurassik Park)’ आयी थी, जिसमें एक विलुप्‍त प्रजाति के जीव डायनासोर का फिल्‍मांकन कम्‍प्‍यूटर और मल्‍टीमीडिया के कुछ सॉफ्टवेयर, जैसे- 3d स्‍टूडियो मैक्‍स (3d Studio Max) आदि की मदद से किया गया था।

3. संगीत (Music)

संगीतकार (Musicians) एक कम्‍प्‍यूटर जिसे इलेक्‍ट्रॉनिक सिंथेसाइजर (Electronic Synthsizer) कहते हैं, को काम में लेते हैं। यह आवाज रिकॉर्ड करता हैं तथा पुरानी  धुनों को मेमोरी (Memory) में भी देता हैं। कम्‍प्‍यूटर की सहायता से विभिन्‍न वाह्ययंत्रों की धुनें कृत्रिम रूप से तैयार की जा सकती हैं।

4. कला (Art)

कम्‍प्‍यूटर के द्वारा हम आकृतियों को विभिन्‍न रूप, आकार तथा रंग आदि दे सकते हैं।चित्रकला जैसे कार्य करने वाले अनेक सॉफ्टवेयर प्रोग्राम कम्‍प्‍यूटर में उपलब्‍ध होते हैं। फोटोशॉप (Photoshop) इसी प्रकार का एक साफ्टवेयर हैं।

वैज्ञानिक शोध के क्षेत्र में कम्‍प्‍यूटर का प्रयोग (Computer In Scientific Research)

कम्‍प्‍यूटर का मौसम की भविष्‍यवाणी (Weather Forecasting) में प्रमुख उपयोग हैं। मौसम का अनुपात लगाने के लिए, वर्तमान मौसम के डेटा (Data)  कम्‍प्‍यूटर में इनपुट (Input) किये जाते हैं, जिनकी भूतकाल के मौसम की स्थितियों से कम्‍प्‍यूटर तुलना करता हैं। मौसम की भविष्‍यवाणी की प्रक्रिया चौबीसों घंटे चलती हैं। इसमें डेटा की संख्‍या अधिक होती हैं, इसलिए इस कार्य के लिए सुपर कम्‍प्‍यूटर का राष्‍ट्रीय स्‍तर पर उपयोग किया जाता हैं।

अन्‍तरिक्ष-यात्रियों को अन्‍तरिक्ष–यानों में सवार कराके हम कम्‍प्‍यूटर की सहायता से उन्‍हें अन्तरिक्ष-यात्रा करवाते हैं। इस कार्य में जटिल खगोलीय गणनाऍ होती होती हैं और खगोलीय पिण्‍डों की दूरियों का आकलन आदि कम्‍प्‍यूटर ही शुद्धता (Accuracy) से कर सकता हैं।

सिमूलेशन (Simulation) एक ऐसी तकनीक हैं जिसमें कम्‍प्‍यूटर किसी वास्‍तविक वस्‍तु का गणितीय मॉडल बना देता हैं और उसका परीक्षण किया जाता हैं। इस प्रकार भवनों, कारों, वायुयानों, प्रक्षेपात्रों, अन्‍तरिक्षयानों के माडॅल सिमूलेशन (Simulation) तकनीक से बनाकर उनका परीक्षण किया जाता हैं। सिमूलेशन (Simulation) की यह क्रिया कम्‍प्‍यूटर एडेड डिजाइननिंग (Computer Aided Designing) भी कहलाती हैं।

चिकित्‍सीय जॉंच  में कम्‍प्‍यूटर (Computers In Medium Treatment)

कम्‍प्‍यूटर हमें स्‍वण्‍स्‍थ और दीर्घायु बनाने के लिए अथक प्रयासरत हैं। कम्‍प्‍यूटर के चिकित्‍सा के क्षेत्र में क्‍या योगदान हैं इस खण्‍ड में चर्चा की गई हैं।

1. कम्‍प्‍यूटर असिस्‍टेड डाइग्‍नोसिस (Computer Assistant)

यह एक ऐसी सुविधा हैं जिसमें हार्डवेयर अथवा सॉफ्टवेयर, चि‍कित्‍सकों को रोगियों के परीक्षण में सहायता करते हैं। रोगी के लक्षणों को कम्‍प्‍यूटर में इनपुट (Input) किया जाता हैं तथा सॉफ्टवेयर इस रोगी के लक्षणों की तुलना अब तक को पिछले रोगियों के कम्‍प्‍यूटर में संग्रहीत लक्षणों व रोगों से करते हैं और रोग का पता लगाते हैं।

2. कम्‍प्‍यूटेड टोमोग्राफी 

यह एक ऐसी सुविधा हैं जिसमें कैट स्‍कैलिंग (Cat Scanning) की जाती हैं। इसमें X-किरण, हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर मिलकर रोगी के आन्‍तरिक अंगो का त्रिविमीय (Three Dimensional) चित्र प्रस्‍तुत करते हैं। चिकित्‍सक इस चित्र से रोगी के रोग को अधिक शुद्धता से जॉच सकते हैं।

3. कम्‍प्‍यूटराइज्‍ड लाइफ सपोर्ट प्रणाली (Computerized Life-Support System)

यह नर्सिग (Nursing) सहायता हैं, जिससे गम्‍मीर अवस्‍था के रोगी का लगातार प्रेक्षण किया जाता हैं और रोगी की ह्रदयगति, तापमान और रक्‍तचाप में प्राणघातक बदलाव को अलार्म (Alarm) से सूचित किया जाता हैं। यह प्रणाली कम्‍प्‍यूटर द्वारा ही संचालित होती हैं।

आजकल कम्‍प्‍यूटरों का उपयोग विकलांगो के लिये भी बढ़ रहा हैं। ऐसे पोर्टेबल कम्‍प्‍यूटर (Portable Computers) तैयार किये गये हैं जो मानव की आवाज से निर्देश प्राप्‍त करते हैं। यहॉं तक की नेत्रहीनों के लिए भी कम्‍प्‍यूटर तैयार कर लिये गये हैं।

कम्‍प्‍यूटर का सूचना प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में प्रयोग (Computer In Information Technology)

कम्‍प्‍यूटर के क्षेत्र के विस्‍तार होने से एक नई प्रौद्योगिकी का जन्‍म हुआ है जिसे ‘सूचना प्रौद्योगिकी’ (Technology) कहत हैं। कम्‍प्‍यूटर सूचना प्रौद्योगिकी में किस तरह उपयोगी हैं इस खण्‍ड में संक्षेप में बताया जा रहा हैं।

1. इण्‍टरनेट (Internet)

इण्‍टरनेट (Internet) कम्‍प्‍यूटर का अंतर्राष्‍ट्रीय संजाल (Network)है। दुनिया-भर के कम्‍प्‍यूटर नेटवर्क इण्‍टरनेट से जुड़े होते हैं और हम कहीं से भी, बैठे अपने कम्‍प्‍यूटर से वांछित जानकारी सभी विषयों पर विविध सामग्री इण्‍टरनेट पर उपलब्‍ध हैं।

अपना मनपंसद विषय चुनने के लिए सर्च इंजिन (Engine) सॉफ्टवेयर इण्‍टरनेट पर होते हैं। याहू (Yahoo), खोज(Khoj), आदि कुछ सर्च इंजिनों के उदाहरण हैं। यह सर्च इंजिन वेबसाइट (Website) का पता लगाते हैं। वेबसाइट पर लोगों या प्रतिष्‍ठानों के इण्‍टरनेट पर पते होते हैं। लगभग सभी वेबसाइट की शुरूआत अंग्रेजी के तीन अक्षरों ‘Www’ से होती हैं, जिसका आशय- ‘वर्ल्‍ड वाइड वेब’ (World Wide Web Www) होता हैं।

2. ई-व्‍यापार (E-Business)

कम्‍प्‍यूटर में क्रिया इलेक्‍ट्रॉनिक विधि से होते हैं, अत: आधुनिक‍ व्‍यवसाय जो कम्‍प्‍यूटर और इण्‍टरनेट के सहयोग से किया जाता हैं ‘ई-बिजनेस’ (E-Business) या ‘इलेक्‍ट्रॉनिक-बिजनेस’ (Electronic Business) कहलाता हैं। यह व्‍यवसाय एक विषय ‘ई-कॉमर्स’ (E-Commerce) के अन्‍तर्गत आता हैं।

Read More

Sunday, July 14, 2019

Types of System सिस्टम के कितने प्रकार होते है | - Technology hindi Solution

July 14, 2019 0
 Types of System सिस्टम के कितने प्रकार होते है  |
Types of System सिस्टम के कितने प्रकार होते है |

सिस्टम के निम्नलिखित प्रकार होते है |

Physical System

Abstract System

Open System

Closed System

Man-made Information System

1. Physical System: – एक सिस्टम में विभिन्न घटकों का समावेश होता है | फिजिकल सिस्टम ऐसी वस्तुओ का समूह होता है,जो वास्तव में उपस्थित हो ,उनका भोतिक रूप होता है ये Tangible or visible होते है अर्थात tangible को देख सकते है,छू सकते है और काउंट कर सकते है | फिजिकल सिस्टम को Statically या Dynamic रूप में ऑपरेट कर सकते है|

Example:- Static system: हम बैंक का उदाहरण लेते है जिसमे बहुत सी वस्तुए फिजिकल होती है,जैसे टेबल,कुर्सी,कंप्यूटर आदि यह सभी वस्तुए बैंक के कामकाज में उपयोगी होती है साथ ही इन भोतिक वस्तुओ का उपयोग कर अन्य कंपोनेट प्राप्त किये जा सकते है |

Dynamic system: कंप्यूटर का प्रयोग कर विभिन्न रिपोर्ट, कस्टमर का डाटा आदि बनाया जाता है | इस प्रकार के डाटा, रिपोर्ट, प्रोग्राम आदि सभी प्रयोगकर्ता के अनुसार बदलती रहती है अर्थात यह डायनामिक होती है |

2. Abstract System:-इस प्रकार के सिस्टम का फिजिकल अस्तित्व नहीं होता है | किसी सिस्टम में दो या अधिक कंपोनेट के बीच का फार्मूला आदि इस केटेगरी में आते है |

Example: बैंक सिस्टम में किसी कस्टमर के क़र्ज़ के ब्याज की गणना आदि | इस प्रकार के फार्मूला, अल्गोरिथम, या मॉडल फिजिकल सिस्टम के वास्तविक रूप का प्रतिनिधित्व करते है | किसी कार्य को एक मॉडल के रूप में बनाने से सिस्टम के विभिन्न कोम्पोनेट्स के बीच के सम्बन्ध आदि को समझना आसान हो जाता है |

3. Open System: – ओपन सिस्टम ऐसा सिस्टम है,जो बाहर के environment में स्वतंत्रतापूर्वक इंटरैक्ट करता है,यह सिस्टम environment से इनपुट लेता है ,और इसे ही आउटपुट लौटा देता है| इस सिस्टम का रिलेशन एनवायरमेंट से होता है |इसलिए जब एनवायरमेंट बदलता है ,तब सिस्टम outdated labeled हो जाएगा |

4. Close System: – क्लोज्ड सिस्टम एक ऐसा सिस्टम है,जो बाहर के environment से कोई रिलेशन नहीं रखता है | वातावरण में होने बाले कोई भी परिवर्तन इसको प्रभावित नहीं करते है क्लोज्ड सिस्टम बहुत कम होते है |

5. Man-made Information System:-इनफार्मेशन सिस्टम का प्रयोग जानकारी को रिसीव करने, स्टोर करने और सेंड करने के लिए किया जाता है 

दोस्तों मुझे उम्मीद है की यह पोस्ट आपको बहुत पसंद आया होगा| यदि यह पोस्ट आपको पसंद आया तो इस पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ जरुर share करें और यदि इस पोस्ट से connected आपका कोई भी सवाल हो तो आप मुझे जरुर बताएं मैं आपके प्रॉब्लम का solution दूंगा |  Thanks for reading.  technology hindi solution

            I hope you liked it. Please share in social media and give feedback in comments .
Read More

Wednesday, July 10, 2019

सरकार दे रही है ।। बिना पेट्रोल लंबी दूरी की यात्रा -Technology hindi soluion

July 10, 2019 0

सरकार दे रही है ।। बिना पेट्रोल लंबी दूरी की यात्रा

इंसान होने के नाते पर्यावरण के प्रति हमारी जिम्मेदारी है कि हम आने वाली पीढ़ी के लिए एक स्वच्छ, सुंदर और प्रदूषण मुक्त वातावरण दें। शहरों में बढ़ते प्रदूषण को देखते हुए इलेक्ट्रिक व्हीकल (EV) की मांग तेजी से बढ़ रही है। ऐसे में Hyundai जैसी बड़ी ऑटोमोबाइल कंपनियां पूरी सक्रियता के साथ काम कर रही हैं। बता दें कि कंपनी जुलाई महीने में Hyundai KONA नाम से पहली फुली इलेक्ट्रिक SUV भारत में लॉन्च करने जा रही है। आइए जानते हैं कि आज के दौर में इलेक्ट्रिक व्हीकल हमारे लिए क्यों फायदेमंद है?
सरकार दे रही है ।। बिना पेट्रोल लंबी दूरी की यात्रा -Technology hindi soluion
Images may be subject to copyright.


                     
इलेक्ट्रिक व्हीकल की परफॉर्मेंस जबरदस्त

कोई भी कार आपके लिए अच्छी है या नहीं, उसकी परफॉर्मेंस से पता चलता है। अब सवाल यह उठता है कि हाईवे और सिटी में इलेक्ट्रिक व्हीकल की परफॉर्मेंस कैसी है? बता दें कि इलेक्ट्रिक व्हीकल्स हाई पावर और अत्यधिक कुशल इलेक्ट्रिक मोटर द्वारा संचालित होते हैं। बात अगर Hyundai KONA की एडवांस इलेक्ट्रिक टेक्नोलॉजी की करें तो यह पावरफुल परफॉर्मेंस के लिए जानी जाती है। यह 0 से 100 किलोमीटर की रफ्तार सिर्फ 9.7 सेकंड्स में पकड़ लेगी, जो परफॉर्मेंस के लिहाज से बेहतर है और ड्राइविंग को मजेदार बनाएगी।
                   सरकार दे रही है EV के इस्तेमाल को बढ़ावा
सरकार EV को लेकर पूरी तरह से गंभीर है, ताकि लोग पेट्रोल और डीजल से चलने वाली गाड़ियों का इस्तेमाल कम से कम करें। वह अपने स्तर पर लोगों की सहायता भी कर रही है। लोगों को EV चलाने में भरपूर सहूलियत और लाभ मिले इसके लिए देश के कुछ राज्यों ने अपने नीतियों को अंतिम रूप दे दिया है। दिल्ली सरकार की योजना हर तीन किमी पर चार्जिंग स्टेशन बनाने और साथ ही साथ प्राइवेट चार्जिंग स्टेशन बनाने के लिए सब्सिडी देने की भी है। दिल्ली सरकार सब्सिडी के साथ-साथ सभी कैटेगरी में रोड टैक्स, रजिस्ट्रेशन फीस माफ जैसे फायदे देने पर विचार कर रही है। वहीं, ऊर्जा मंत्रालय ने 2023 तक चार्जिंग इन्फ्रा सेटअप योजना की घोषणा कर दी है। इसके अलावा कई निजी कंपनियां इसको लेकर पायलट प्रोजेक्ट पर काम भी कर रही हैं और लोग ज्यादा से ज्यादा इसका इस्तेमाल करें इसके लिए संभावनाएं भी तलाश रही हैं।

                             बिना पेट्रोल लंबी दूरी की यात्रा करें

इलेक्ट्रिक व्हीकल का इस्तेमाल करना ठीक वैसा ही है जैसे आप फोन का इस्तेमाल करते हैं। एक बार फुल चार्ज करने के बाद आप कहीं भी हों आपको समस्या नहीं आएगी। वैसे चार्जिंग की समस्या न हो इसके लिए Hyundai ने भी अपनी कार KONA में कई बेहतरीन फीचर्स दिए हैं। यह दो वर्जन (39.2kWhऔर 64kWh) में उपलब्ध है। 39.2kWh की बैटरी वाले वर्जन को फुल चार्ज करने पर 452किलोमीटर की रेंज मिलेगी। वहीं 64kWh की बैटरी वाले वर्जन को एक बार चार्ज करने पर 480ज्यादा किलोमीटर की रेंज मिलेगी। इसके अलावा आप इसकी बैटरी को आसानी से घर पर चार्ज कर सकेंगे। इसमें आपको इंडस्ट्री की सबसे अच्छी EV बैटरी मिलेगी, जो एडवांस सेफ्टी प्रोटेक्शन मैकेनिज्म से लैस होगी।
Hyundai KONA भारत में उपलब्ध अन्य इलेक्ट्रिक व्हीकल्स की तुलना में बेहतर बैटरी टेक्नोलॉजी और कुशल पावर ट्रेन सिस्टम से लैस होगी। इलेक्ट्रिक व्हीकल्स को लेकर आम तौर पर लोगों में सबसे बड़ा डर बैटरी की लाइफ को लेकर होता है, लेकिन KONA EV के साथ ऐसा नहीं है। इसमें लंबे समय तक चलने वाली बैटरी दी जाएगी, जिससे आप लंबी दूरी की यात्रा को आसानी से तय कर सकते हैं। यदि आप KONA के 39.2kWh बैटरी वाले वर्जन को फुल चार्ज करेंगे, तो यह 452किलोमीटर की रेंज देगी यानी इतनी दूरी तय करेगी। इसकी बैटरी फास्ट चार्जिंग को सपोर्ट करेगी और इसे 54 मिनट में 80 प्रतिशत तक DC फास्ट चार्जर के जरिए चार्ज किया जा सकेगा। वहीं यदि आप AC चार्जर के जरिए इलेक्ट्रिक गाड़ी को चार्ज करते हैं तो पूरा चार्ज होने में करीब 6 घंटे का समय लग सकता है।

                           मेंटेनेंस पर बहुत कम खर्चा

पेट्रोल-डीजल से चलने वाले वाहनों की तुलना में इलेक्ट्रिक व्हीकल्स की लागत दो से ढाई गुना अधिक होती है। हालांकि, जब आप इसे खरीदकर घर लाते हैं, तो इसका रनिंग और मेंटेनेंस कॉस्ट पारंपरिक वाहनों की तुलना में करीब एक-चौथाई ही होता है, अर्थात इसकी मेंटेनेंस लागत काफी कम होता है।
                         सुरक्षा मानकों पर खरी उतरे
यदि कोई इलेक्ट्रिक व्हीकल चलाएगा तो उसके दिमाग में सुरक्षा का सवाल सबसे पहले आएगा। चाहे बात इलेक्ट्रिक शॉक की हो या फिर रासायनिक रिसाव की, EV चलाना पूरी तरह से सेफ है। वैसे सेफ्टी के मामले में Hyundai का स्कोर हमेशा ही अच्छा रहा है। यह बात इलेक्ट्रिक व्हीकल Hyundai KONA के साथ भी लागू होती है। इस कार में इंडस्ट्री की सबसे अच्छी EV बैटरी दी गई है, जो एडवांस प्रोटेक्शन मैकेनिज्म से लैस है। प्रतिकूल मौसम में इसे ड्राइव करना काफी सुरक्षित होगा।
                                 इलेक्ट्रिक व्हीकल का डिजाइन
कार खरीदते समय सबसे पहले हम उसके डिजाइन से प्रभावित होते हैं। कार का फ्रंट, रियर, साइड प्रोफाइल और इंटीरियर कैसा है, कार खरीदते समय हम जरूर ध्यान देते हैं। वैसे आजकल कई इलेक्ट्रिक व्हीकल में भी आपको कई बेहतरीन डिजाइन देखने को मिलते हैं। अब आप Hyundai KONA को ही ले लीजिए। यह एक SUV डिजाइन कार है, जो दिखने में बहुत ही एट्रैक्टिव लगती है। इसका डिजाइन अर्बन, स्टाइलिस्ट और फ्यूचरिस्टिक है। इसमें मॉर्डन कारों में दिए जाने वाले तमाम फीचर्स मिलेंगे। इसका अनोखा फ्रंट ग्रिल, हाई टेक फीचर्स और बोल्ड डिजाइन इसे एक बेहतरीन इलेक्ट्रिक व्हीकल बनाते हैं।
तकनीकी तौर पर हम भले ही विकसित हो रहे हैं, लेकिन पर्यावरण को लेकर अब हमें संवेदनशीलता दिखानी होगी, ताकि भविष्य में आने वाली पीढ़ी को एक प्रदूषण मुक्त वातावरण मिल सके और इसमें इलेक्ट्रिक गाड़ियां काफी योगदान दे सकती हैं। यह न केवल सुरक्षित हैं, बल्कि पारंपरिक गाड़ियों के मुकाबले इसका मेंटेनेंस खर्चा भी बहुत कम है। साथ ही, सरकार का भी इसमें पूरा सपोर्ट है।
Read More